भारत ने हर्षोल्लास के साथ 63वाँ गणतंत्र दिवस मनाया
: Thu, 26 Jan 2012 16:23, by: Noor En Ahmed

नई दिल्ली:आज पूरे भारत भर में गणतंत्र दिवस का पर्व पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। जगह-जगह झंडे फहराए जा रहे हैं तथा मिठाईयाँ बाँटी जा रहीं र्है। देश के विभिन्न क्षेत्रों से सांस्कृतिक कार्यक्रमों की खबरें भी आ रही हैं।

देश में गणतंत्र दिवस समारोह का शुभारंभ देश की राजधानी नई दिल्ली के राजपथ से शुरू हुआ जहाँ पर देश की सर्वोच्च नागरिक एवं राष्ट्राध्यक्ष श्रीमती प्रतिभा देवी सिंह पाटिल ने तिरंगा फहरा कर कार्यक्रम की शुरूआत की।

ध्वज़ारोहण के पश्चात राष्ट्रपति को 21 तोपों की सलामी दी गयी तथा राष्ट्रपति ने जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी आतंकवादियों के घुसपैठ के प्रयास को विफल बनाने के दौरान शहीद हुए लेफ्टिनेंट नवदीप सिंह को शांतिकाल के सर्वोच्च वीरता पुरस्कार अशोक चक्र से सम्मानित किया। यह मेडल सिंह के पिता ने ग्रहण किया।

इसके पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सबसे पहले अमर जवान ज्योति पर पुष्प अर्पित करके देश की सेवा में शहीद हुए जवानों को अपनी भाव-भीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। प्रधानमंत्री का अनुसरण करते हुए देश के रक्षा मंत्री ए के एंटनी तथा तीनों सेना के प्रमुखों ने भी अमर जवान ज्योति पर पुष्प अर्पित करके अपनी-अपनी श्रद्धांजलियाँ अर्पित कीं।

ध्वज़ारोहण कार्यक्रम के पश्चात देश की तीनो सेनाओं की टुकड़ियों ने सजे धजे वर्दी में मार्चपास्ट किया तथा राष्ट्रपति को अपनी सलामी दी।

इस बार गणतंत्र दिवस की मुख्य अतिथि थाइलैंड की पहली महिला प्रधानमंत्री यिंगलक शिनावात्रा थीं।

तीनो सेना के जवानों के अलावा सहायक बलों और अर्ध सैनिक बलों के जवानो ने भी परेड में हिस्सा लिया।

कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण सेना के जवानों द्वारा दिखाए गये हैरत अंगेज करतब थे जिन्होंने अपने साहसिक कारनामों से दर्शकों का मन मोह लिया इसके अतिरिक्त इस बार परेड में पहली बार देश के रक्षा विकास एवं अनुसंधान संगठन द्वारा विकसित 3000 किलोमीटर तक मार करने वाली 'अग्नि-4' मिसाइल, 150 किलोमीटर तक मार करने वाली 'प्रहार' मिसाइल, 'सी-130-जे सुपर हर्क्युलिस' विमान और मानवरहित विमान 'रूस्तम-1' को दर्शाया गया।

इसके अतिरिक्त टी-72 टैंक, बहुप्रक्षेपण राकेट प्रणाली, पिनाका मल्टी बैरल राकेट प्रणाली, जैमर स्टेशन वीएचएफ (यूएचएफ) और स्वदेशी तकनीकी क्षमता से विकसित सेना के उन्नत हल्के हेलीकाप्टर 'ध्रुव' का भी प्रदर्शन किया गया।

इस बार की मुख्य आकर्षण भारतीय वायुसेना की फ्लाइट लेफ्टिनेंट स्नेहा शेखावटे रहीं जो कि भारतीय वायु सेना की पहली महिला कमांडर हैं जिन्होने गणतंत्र दिवस के अवसर पर वायु सेना के 144 जवानों के दस्ते का नेतृत्व किया।

नौसेना के 148 जवानों के दस्ते का नेतृत्व लेफ्टिनेंट मणिकंदन के. ने किया जबकि दिल्ली के जनरल अफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल विजय कुमार पिल्लै ने परेड की अगुवाई की।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री एव राष्ट्रपति के अलावा रक्षा मंत्री ए के एंटनी, संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की अध्यक्षा सोनिया गाँधी एव तीनों सेना के प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।

  Author

Noor En Ahmed - Contributor

Graduated in Science and Post Graduated in Mass Communication from Makhan Lal National University of Journalism, Noor En Ahmed has been continuously working as freelance journalist, Web Content Writer, Ghost Writer and Financial Advisor till date. Started his career with RoseIndia Technology Pvt Ltd in 2006, he worked here a Technical Writer and Web Content Writer. During this period he worked for Newstrack india Website and continuously worked here till 2013. He loves writing, editing and original reporting. He can be contacted at noor.newstrackindia@gmail.com round the clock and round the calendar.

Email: noor.newstrackindia@gmail.com

Phone: +91 9565633570